XML in asp.net in hindi | एक्सएमएल क्या है? – ASP.Net

0
16
XML in asp dot net in hindi

XML in asp.net in hindi :

इस पोस्ट के माध्यम से ASP. Net में आने वाले XML के बारे में समझाया गया है यह Subject विशेषकर PGDCA , BCA , BSC , MCA में पढ़ाया जाता है इस पोस्ट में xml in asp.net, advantages and disadvantages ,uses of xml, pgdca 2 sem asp notes in hindi के बारे में बताया गया है तो आइये पढ़ते है क्या होता है ..

Introduction to XML in .Net :

  • XML का full form Extensible Markup Language है।
  • इसे World Wide Web Consortium (W3) द्वारा 10 फरवरी, 1998 में बनाया गया।
  • इसमें code को write करने का तरीका HTML के समान ही होता है।
  • एक्सएमएल में data को दिखाने के tag का उपयोग किया जाता है।
  • HTML में जहाँ tag का उपयोग page के content को user की screen पर दिखाने के लिए किया जाता है वही एक्सएमएल में tag का उपयोग data को store और manage करने के लिए किया जाता है।
  • XML में User के द्वारा स्वयम के लिए नये tag बना सकता हैं और अपनी आवश्यकता के अनुसार उसके document के structure को बनाया जा सकता हैं इस कारण से इसे extensible language कहा जाता है।
  • एक्सएमएल की file में लिखे जगये code को .xml extension के साथ save किया जाता हैं।
  • किसी XML document file का उपयोग database file के रूप में किया जा सकता है।
  • एक्सएमएल में बनी फाइल का data plain text के रूप में save होता हैं इस कारण से किसी भी application को access करना आसान होता है।
  • एक्सएमएल में लिखे गये कोड को hierarchical structure में लिखा जाता है |
  • एक्सएमएल के Code को read व Write करने के लिए XML parser की आवश्यकता होती है। यह Parser document या Code को अलग अलग element, attribute में divide कर देता है।
  • अलग अलग element व attribute द्वारा devide किये गये part को आवश्यकता अनुसार application के द्वारा access करके display किया जाता है।
  • document के format में यदि कोई error होती है तो उसके बारे में parser के द्वारा error बता दि जाती है।

Uses of XML / Xml Basics :

  1. XML file का उपयोग किसी application, program या software में database file के रूप में किया जा सकता है।
  2. इसका उपयोग अलग-अलग programs के बीच data transfer के लिए भी किया जाता है।
  3. XML file का उपयोग Web developer dynamic content create करने में करता है |
  4. इसका मुख्य उपयोग data को अलग-अलग format में represent करने में किया जाता है |
  5. एक्सएमएल का उपयोग organizations के बीच data के आदान-प्रदान करने में किया जाता है।

Advantages of XML :

  1. इसमें programming code लिखने के लिए किसी विशेष प्रकार के software की आवश्यकता नही होती है|
  2. एक्सएमएल में प्रोग्राम बनाना व coding करना बहुत ही आसान होता है|
  3. XML हर प्रकार की programming languages जैसे PHP, ASP, JavaScript, Python,Java, .NET, C, C++ को support करता हैं।
  4. इसमें प्रोग्राम बनाने के लिए बहुत ही कम syntax और rules को follow करना होता हैं।
  5. इसके code को एक simple text editor जैसे notepad , word pad में लिखा जा सकता है।
  6. एक्सएमएल programming language machine readable और human readable दोनों है।
  7. इस programming language में tag याद रखने की जरूरत नही होती है आप स्वयम के tag बना सकते हैं |
  8. इस programming language के माध्यम से data sharing आसानी से की जा सकती है।

Disadvantages of XML :

  1. XML data type support नही है।
  2. XML के tags user defined होते हैं अर्थात इसके structure और coding Style User के द्वारा बनाया जाता है | इस कारण से अन्य user को tag को समझने में परेशानी होती है।
  3. pre defined syntax नही होने के कारण कोड की redundancy हो सकते हैं जिसका application की efficiency पर सीधा प्रभाव पड़ता है।
  4. कोई भी web browser एक्सएमएल के Code को सीधे सीधे समझ नही पाते है इस कारण इन्हें पहले HTML में convert करना पड़ता है।

इसे भी पढ़े :