types of output device in hindi | आउटपुट डिवाइस के प्रकार

0
2
types of output device in hindi

परिचय आउटपुट डिवाइस (output Device) :

आउटपुट डिवाइस ( output device ): यह एक विद्युत यांत्रिक युक्ति है जो कंप्यूटर से बाइनरी डेटा लेकर उसे उपयोगकर्ता के लिए उपयुक्त डेटा में बदल देता है।

आउटपुट डिवाइस के प्रकार / Type of output device

मॉनीटर / Monitor :

यह सॉफ्ट कॉपी (soft copy) प्रदान करने वाला लोकप्रिय आउटपुट डिवाइस ( output device) है, इसके द्वारा डेटा और सूचनाओं को प्रदर्शित करता है|

Monitor
Monitor
  •  प्रदर्शित रंग के आधार पर मॉनीटर मुख्यत दो प्रकार के होते है |
    • मोनोक्रोम मॉनीटर (Monochrome Monitor) : यह श्वेत-श्याम (black and  white) डिसप्ले प्रदर्शित करता है।
    • कलर मॉनीटर (Colour Monitor) : यह 16, 32 या 256 रंगों में डिस्प्ले प्रदर्शित करता है। इसमें तीन मूल रंग—लाल, हरा और नीला का प्रयोग किया जाता है तथा इनके मिश्रण से अन्य रंग प्रदर्शित किए जाते हैं।
  •  संरचना के आधार पर मॉनीटर के दो प्रकार होते हैं :
    • CRT—Cathode Ray Tube : यह एक बड़ा ट्यूब होता है जिसमें उच्च वोल्टेज द्वारा इलेक्ट्रॉ  बीम को नियंत्रित कर डिसप्ले प्राप्त किया जाता है। यह टीवी स्क्रीन जैसा होता है ।
    • LCD—Liquid Crystal Display : इसमें दो परतों के बीच तरल क्रिस्टल भरा रहता है जिसे वोल्टेज द्वारा प्रभावित कर डिस्प्ले प्राप्त किया जाता है। इसका प्रयोग मुख्यतः लैपटॉप में होता है। यह पतला, हल्का और कम विद्युत खपत करने वाला होता है। इलेक्ट्रॉनिक घड़ियों, कैलकुलेटर आदि में भी इसका प्रयोग किया जा रहा है।

प्रिंटर / Printer :

Printer
Printer

यह हार्ड कॉपी (hard copy) या स्थायी प्रति (permanent copy) प्रदान करने वाला आउटपुट  डिवाइस है ।
विभिन्न प्रकार के प्रिंटर इस प्रकार है –

  •  कैरेक्टर प्रिंटर (Character Printer) – यह एक बार में एक कैरेक्टर प्रिंट करता है ।
  •  लाइन प्रिंटर (Line Printer) – एक बार में एक पूरी लाइन प्रिंट करता है ।
  •  पेज प्रिंटर (Page Printer) – एक बार में एक पूरा पेज प्रिंट करता है ।

 

प्लॉटर / Plotter :

Plotter
Plotter

प्लॉटर एक आउटपुट डिवाइस है जिसका उपयोग बड़े कागज पर उच्च गुणवत्ता वाले रेखाचित्र व ग्राफ प्राप्त करने के लिए किया जाता है मुख्यत  इसका उपयोग इंजीनियरिंग, वास्तुविद, भवननिर्माण, सिटी प्लानिंग, मानचित्र आदि में किया जाता है, प्लॉटर  दो  प्रकार होते है ।

  • Drum Plotter
  • Flatbed Plotter

स्पीकर / Speaker :

Speaker
Speaker
computer system के साथ उपयोग में लाई जाने वाली एक मात्र Analog output  device  Speaker  होते है। वर्तमान समय मे सभी computer system multi media processing को उपयोग करते है । इस कारण से अधिकतम Software के output के साथ sound signal प्राप्त होते है । इन sound signal को sound card के माध्यम से Speaker  को दिया जाता है। computer system में process होने वाले sound signal   digital  data के रूप में होते है, जबकि Speaker  द्वारा output दिये जाने वाले signal analog  होते है। इस कारण से किसी ऐेसे माध्यम की आवष्यकता होती है, जो computer से प्राप्त digital signal को Speaker के लिए आवष्यक Analog system में change कर सके । sound card एक ऐसी ही device होती है जो Speaker के लिए analog system उपलब्ध कराये । परंतु यहां sound card से प्राप्त होन वाले analog signal  कमजोर होते है, जिन्हे Speaker में लगे Amplifier  द्वारा strong  बनाया जाता है। Speaker इस Amplifier से प्राप्त output को magnetic  woofer  को देता है, जहां से sound user को प्राप्त होता है, इस प्रकार किसी भी computer के साथ उपयोग में लाये जाने वाले Speaker  Amplifier  के माध्यम से ही output प्रदान करते है।

स्क्रीन प्रोजेक्टर / Screen Projector :

Screen Projector
Screen Projector
  • यह कंप्यूटर स्क्रीन पर होने वाली घटनाओं और चित्रो तथा सूचना को बड़े पर्दे पर दिखाता है ।
  • इसका उपयोग मल्टीमीडिया प्रेजेंटेशन (Multimedia Presentation) के लिए किया जाता है
  • जिसमें आवाज, चित्र, चलचित्र तथा एनिमेशन का प्रयोग किया जाता है |
  • इसे लोगों के समूह द्वारा देखा जा सकता है |

Sound Reaction :

इसकी माध्यम से उपयोगकर्ता कंप्यूटर के साथ बातचीत कर सकता है, यह दो प्रकार का होते है।

Sound Reaction
Sound Reaction
  • आवाज पुनउर्त्पाद (Voice Reproduction): इसमें पहले से रिकार्ड किए गए आवाज को आवश्यकतानुसार चलाया जाता है।
  • स्पीच सिन्थेसाइजर (Speech Synthesizer): इसकी सहायता से लिखित सूचना को आवाज में बदला जाता है तथा विभिन्न भाषाओं का अनुवाद भी किया जा सकता है।

इन्हें भी पढ़े ……